Pyaar ka pehla naam Radha mohan 31 July 2023 written update

Pyaar ka pehla naam Radha mohan 31 July 2023 written update full Episode

radha mohan 31 july 2023 आज का एपिसोड स्टार्ट होता है जहां पर कादंबरी दादी से बोलती कि आपका और राधा का दोनों का झूठ सामने आ गया है। अब कादम्बरी कहती है कि सबकुछ तबाह कर दिया आपने हमारी बहु हम  से छीन ली। दामिनी को हम घर से बाहर निकालने वाले थे और अगर हमारे बहू की चिट्ठियां नहीं मिलती तो पता नहीं आपकी बेटी हमारे घर में क्या क्या बर्बाद कर देती।

May you like:

Pyaar ka pehla naam Radha mohan 30 July 2023 written update

Anupama 31 July 2023 written update

अब राधा की दादी बोलती है सबकुछ झूठ है। हमारी बेटी निर्दोष है। राधा यह सब कभी नहीं कर सकती। अब तुलसी बोलती है मां इनकी बात मांनइए न राधा बिल्कुल निर्दोष है। अब कादम्बरी दादी से बोलती है क्या सच है और क्या झूठ है, यह तो पुलिस ही तय करेगी।

कादंबरी दादी के सामने हाथ जोड़ती है और कहते है कि कृपा करके हमारे घर से चले जाइए। राधा की दादी बोलती है, कादंबरी जी, आप बहुत गलत कर रहीं हैं। तुलसी बोलती है मां बहुत गलत कर रही हैं। आप ऐसे बात नहीं कर सकती।

Pyaar ka pehla naam Radha mohan 31 July 2023 written update

Radha mohan 31 July 2023 written update

उनसे और कादम्बरी कुछ ऐसा करती जो कभी किसी ने सोचा भी नहीं था। कादंबरी दादी का हाथ पकड़कर उन्हें घर से बाहर निकाल रही होती है। वहां पर खड़े सभी लोग हैरान रह जाते हैं।

और अब राहुल, राधा के बाबा का हाथ पकड़कर उन्हें बाहर निकालना होता है। राधा के बाबा विश्वनाथ से मदद मांगते हैं, लेकिन विश्वनाथ मदद देने से मना कर देता है और वो उन्हें जाने के लिए कह देता है। राहुल राधा के

बाबा को खींचता हुआ सा ले जा रहा होता है और ऐसा लग रहा था जैसे कि यह लोग उन्हें धक्का मारके बाहर निकाल रहे हैं। तुलसी बोलती है के राहुल ये क्या कर रहे हो तुम?

और आखिरकार उन दोनो को घर से बाहर निकाल लिया जाता है। अब दामिनी मन में सोचती है बड़ी आई थी बुढ़िया मुझे भाषण देने अब हो गयी ना बोलती बंद। कादम्बरी दादी से बोलती है कि गलत तो आज तक हम लोगों के साथ हुआ है। आपकी राधा ने हमारे हंसते खेलते परिवार को बर्बाद कर दिया और यह वादा है कादंबरी देवी का कि हम राधा को कड़ी से कड़ी सजा दिलवाएंगे।

इधर दामिनी कहती है अब लगा तीर सही निशाने पर। अब कादंबरी बोलती, अब हमारी अगली मुलाकात कोर्ट में होगी और यह कहकर कादंबरी उनके मुंह पर दरवाजा बंद कर देती है। अब दामिनी कावेरी से  बोलती है। मैंने कहा था ना आप से ने मम्मा के तीज के दिन ही राधा सफेद साड़ी पहनेगी तो अब उसके साथ वहां पर? Exactly यही तो हो रहा होगा।

इधर कॉन्स्टेबल राधा को लॉक अप की तरफ ले जा रही होती है और लॉकअप में ले जाने के बाद उसे धक्का देकर अंदर भेज देती है। लेकिन अंदर कोई होता है जो राधा को संभाल लेता है और वह कोई और नहीं मोहन होता है। राधा मोहन को वहां पर देखकर हैरान हो जाती है।

और अब राधा मोहन को देखकर रोने लग जाती है। मोहन उसे अपने गले लगा लेता है। अब राधा बोलते मोहन जी हमारा यकीन कीजिए हमने कुछ भी नहीं किया। हमने तुलसी जीजी की जान नहीं ली है। ये सब कुछ झूठ। मोहन जी ये सबकुछ झूठ है। अब मोहन राधा को चुप

कराता है और बोलता है कि मुझे सफाई देने की जरूरत नहीं है। अब मोहन बोलता के अगर तुलसी और बांके बिहारी जी खुद आकर के बोल देंगे ना कि तुमने तुलसी को मारा तो भी नहीं मानूंगा। मोहन कहता मैं जानता हूं अपनी राधा को। मेरी राधा ऐसा कुछ नहीं कर सकती है।

अब राधा रोते हुए बोलती तो मोहन जी ये किसने किया? मेरे साथ क्यों किया? अब मोहन बोलता है मैं जानता हूं कि ये किसने किया है। राधा मोहन की बात सुनकर चौंक जाती है। अब राधा पूछती है कि किसने? मोहन जवाब देता है। दामिनी ने वैसे तो दामिनी का नाम सुनकर कोई हैरानी नहीं होनी चाहिए लेकिन फिर भी हैरान है।

अब मोहन बोलता है कि डोंट वरी राधा, बाहर खेल चुकी दामिनी, लेकिन बस अब मोहन बोलता है की दामिनी का खेल हमेशा के लिए खत्म कर दूंगा।  बहुत सताया ना उसने तुम्हे उसे हर तरह से समझाने की कोशिश की मैंने लेकिन वो नहीं समझी ना और अब उसे उसकी भाषा में समझाऊंगा।

मैं और तुम्हें कुछ भी नहीं होने दूंगा। अब मोहन राधा से कहता है कि देखो तुम रोना नहीं, मैं सबकुछ ठीक कर दूंगा। तभी बाहर से कांस्टेबल की आवाज आती है कि साहब जल्दी कीजिए अगर जेलर को पता चल गया ना तो मेरी नौकरी चली जाएगी।

वो तो शेखर सर की वजह से मैंने इतना बड़ा रिस्क लिया है। मोहन उस कॉन्स्टेबल से बोलता है बस पांच मिनट दीजिए मुझे प्लीज और कांस्टेबल ओके कहकर चली जाती है। मोहन राधा से बोलता है। दामिनी ने तुम्हारे पर तुलसी की मौत का इल्जाम लगाकर अच्छा नहीं किया। इस बार दामिनी ने अपनी सारी हदें पार कर

दी हैं। वो जानती थी कि आज हम दोनों एक होने वाले हैं इसलिए उसने हम दोनों को अलग करने के लिए नई चाल चली है। मोहन कहता है और देखो क्या हुआ हमें छुप के मिलना पड़ रहा है और ऐसा लग रहा जैसे कि आज मोहन अपने हीरो वाले अवतार में आया है। वरना आज से पहले तो ये बिल्कुल यूजलेस लगता था सीरियल में।

अब मोहन राधा के सर पर हाथ रखकर कसम खाता है कि कसम मुझे तुम्हारे प्यार की दामिनी का असली चेहरा सबके सामने लाकर रहूंगा और 10 दिन के अंदर तुम्हें बाइज्जत बरी करके अपने साथ ले जाऊंगा। अब मोहन बोलता है तुम्हे कुछ भी नहीं होने दूंगा और मैं जानता हूं कि इन सब चीजों के पीछे दामिनी का हाथ है।

लेकिन इस बार उसने तुम्हारे साथ ये सबकुछ करके ना उसने मेरे साथ दुश्मनी मोल ली है। मोहन कहता है कि देखना जीत हमारी होगी राधा। अब राधा बोलती है मोहन जी हम तो ये लड़ाई पहले ही जीत चुके हैं। आपने हम पर अटूट विश्वास जो किया आप दामिनी जी की बातों में नहीं आए।

उन चित्रों पर आपने विश्वास नहीं किया। हमारे लिए बस इतना ही काफी है। हम पर अटूट विश्वास करने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद। अब मोहन बोलता है क्या बात कर रही हो तुम राधा?

प्यार की पहली शर्त तो भरोसा होता है ना। और अटूट विश्वास तो प्यार की निशानी होती है। अब राधा मोहन से पूछते क्या कहा आपने? अब मोहन बोलता है क्या कहा मैंने? राधा बोलती, अभी आपने जो कहा अब मोहन बोलता है अच्छा वह परिवार से प्यार वाली बात।

अरे वो तो कुछ भी नहीं था से परिवार से प्यार वाली बात की। अब राधा बोलती अरे जाने दीजिए आपको वैसे भी काम की कोई बात याद नहीं रहती और अब राधा गुस्सा होकर  मुंह फेर लेती है। अब मोहन उसे बनाते हुए बोलता है कह दूं।

राधा बोल उठी कि क्या अब मोहन राधा को पलटते हुए  बोलता है वही जो मैं कहने को बेकरार हूं और तुम सुनने को तरस रही हूं। अब मोहन कहता है राधा और वह एक दो बार कहता है राधा और मोहन यह कहने जा रहा था कि वह उससे प्यार करता है। तभी राधा उसके मुंह पर हाथ रख देती है।

अब राधा बोलती नहीं मोहन जी, यह हमारे जीवन का बहुत ही महत्वपूर्ण पल है और इसलिए हम यह पल को यहां नहीं जीना चाहते और कभी भी भविष्य में हम जब यह पल को याद करेंगे तो हमें साथ में यह जगह भी याद आएगी। मोहन चुपचाप राधा को देख रहा होता है। अब मोहन बोलता तो क्या करूं?

मैं इस पल का इंतजार कर रहा था की आज सब कुछ बता दूंगा तुम्हें पूरा तैयार करके आया था। मैं कपड़े भी चेंज कर लिए थे। देखो, मोहन बोलता, आज ही के दिन एक साल पहले तीज के दिन तुम्हारा व्रत खोला था मैंने अब दोनों पल याद करने लग जाते हैं। और अब राधा हां में सर हिला देती है। मोहन बोलता है और रही बात जेल की तो तुम्हारे बांके बिहारी जी का भी तो जनम जेल में ही हुआ था ना?

तो क्या मैं जेल में तुमसे अपने दिल की बात नहीं कह सकता हूं? और वैसे भी जो हमारी लवस्टोरी है न वो थोड़ा हटकर हे और हमारा प्यार भी तो अलग haina बेस्ट है ।तो ऐसे ही मैं प्यार का इजहार कर दूं घर पर या फिर रेस्टोरेंट में हम अलग लोग हैं तो चीजें भी अलग होनी चाहिए कि नहीं।

अब राधा भी मोहन की बात से सहमत हो जाती है। और आखिरकार आज वो दिन आ ही गया जब मोहन राधा से बोल ही देता है। मोहन राधा से बोल ही देता है राधा आई लव यू। राधा मोहन कहता है राधा मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं। कितना प्यार करता हूं जो दिल में समा भी न सके।

इतना प्यार जो आज तक किसी ने किसी से ना किया हो। इतना प्यार जिसके लिए एक जनम भी काफी ना हो। इतना प्यार की प्यार भक्ति बन जाए, जीने के लिए शक्ति बन जाए, इतना प्यार की जिंदगी सबर जाए जैसे तुमने मेरी जिंदगी संवार दी है। तुमने मुझे जिंदगी जीने की वजह दी है, तुमने मुझे मेरी जिंदगी दी है, तुमने मुझे अपनी जिंदगी दी है, तुमने मुझे मेरी बेटी गुनगुन दी है।

अब मोहन कहता है तुमने इतना प्यार दिया है इस मोहन को कि मोहन की जिंदगी को पूरा कर दिया। इतना प्यार की बताने में ही आंख भर आए अब मोहन राधा को गुलाब का फूल देते हुए बोलता है आई लव यू राधा और राधा के पास तो शब्द भी नहीं होते हैं।

मोहन कहता है राधा बहुत प्यार करता हूं मैं तुमसे। और अब राधा रोते हुए उस फूल को ले लेती है और उसे चूम लेती है और अब राधा मोहन के गले लग जाती है और मोहन बार बार बोलता रहता है लव यू राधा, आई लव यू। और तभी राधा को थोड़ा चक्कर आ जाते हैं। मोहन राधा को संभालता है।

राधा कहती है मोहन जी हमें थोड़े चक्कर आ गए थे। शायद हमारा दिल इतना प्यार संभाल नहीं पाया। अब मोहन कहता है क्या डायलॉग मार रही हो? व्रत में होना कमजोरी फील कर रही हो ना? अब मोहन कहता है जब व्रत निभाने की ताकत ना हो तो रखती क्यों हो? अब राधा बोलती है आपने भी तो रखा है न व्रत, आपको भूख नहीं लगी? मोहन बोलता है भूख तो बहुत लगी है ।

में सोच भी रहा था कि कुछ खालू पर फिर सोचा पहले एक बार राधा खा ले उसके बाद मोहन भी खा लेगा। अब मोहन राधा को एक जगह बिठा देता है और अब मोहन राधा को एक छोटा सा लिफाफा देता है। राधा जब उसे खोलती है तो खुशी से उछल पड़ती है। अब राधा खुश होते हुए मोहन से बोलती है गटागट मोहन जी, आपको कैसे पता कि हमें गटागट पसंद है?

मोहन बोलता है जब आप किसी से प्यार करते होना तो उसकी पसंद ना पसंद का पता चल ही जाता है। जैसे तुम्हे गटागट पसंद है तुम्हे अपनी चोटी से बहुत प्यार है और उतना ही प्यार तुम्हे बाबा,दादी और गुनगुन से भी है लिस्ट तो बहुत लंबी है पर अभी हम जेल में है तो इधर उधर की बात नही करेंगे सिर्फ रोमांस करेंगे।

अब मोहन राधा के लिए पानी लेकर आता है और राधा को पानी पिलाकर उसका व्रत खुलवाता है और पिछला तीज भी याद करता है जैसे उसने पिछली बार खुलवाया था और अब राधा भी मोहन को पानी पिलाकर उसका व्रत खुलवाती है। और अब राधा गटागट अपने हातों पर निकालती है और अब मोहन उसमे से एक गोली राधा को खिला देता है।

और अब राधा एक गोली मोहन को भी खिला देती है और अब राधा मोहन एक दूसरे को गोली खिला रहे होते है।राधा मोहन इस हालत में बहुत खुश होते है।

और Pyaar ka pehla naam Radha Mohan 31 July 2023 Episode यहीं खत्म हो जाता है।

बस यहीं था आज के Radha mohan 31 July 2023 written update एपिसोड मैं ।

जुड़े रहिये और Pyaar ka pehla naam Radha mohan written Update episodes के बारे में जान ने के लिए।

अगर आप radha mohan 31 july 2023 के अलावा  Anupama serial update देखते है तो उसका आज का एपीसोड का लिंक दिया हुआ है।

Last post:

Anupama 29 july 2023 written update full Episode

Anupama 28 July 2023 written update full Episode

Leave a Comment